What is Virus in Hindi / Virus Full form In Hindi

Virus kya Hai, Virus Full Form In Computer,/ What is Virus in Hindi – दोस्तों आज हम जानेंगे कंप्यूटर वायरस के बारे में , वायरस क्या होता है , वायरस कितने प्रकार का होता है ,कंप्यूटर में वायरस कैसे फैलता है , कंप्यूटर के वायरस का इतिहास क्या है , कंप्यूटर में वायरस फिलाने के बाद क्या करता है , कंप्यूटर को वायरस से कैसे बचाये , वायरस से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हम जानेंगे .

What is Virus in Hindi

Virus Full Form In Computer

Full form Of Virus / Virus ka Full Form

Vital Information Resources Under Seize

Virus Meaning in Hindi

कंप्यूटर वायरस एक कंप्यूटर सॉफ्टवेर की तरह से ही होता है . जो स्वयं की प्रतियां बना सकता है , और ये कंप्यूटर को सामान्य तरीके से चलने से रोकता है .

What is Computer Virus in Hindi

Virus Kya Hai

Virus कम्प्यूटर में छोटे- छोटे प्रोग्राम होते है , जो auto execute program होते जो कम्प्यूटर में प्रवेष करके कम्प्यूटर की कार्य प्रणाली को प्रभावित करते है . कंप्यूटर वायरस अपने आप में अन्य एक्‍सेक्‍युटेबल कोड या डयॉक्‍युमेंट में फैलता है . जब हम इन्टरनेट, Pen drive और Hard Disk इस्तेमाल करते है तो यह एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर में पहुँच जाते है और आपकी मर्ज़ी के बिना ही आपके कंप्यूटर में Install हो जाते है .

वायरस एक द्वेषपूर्ण प्रोग्राम है जो कंप्यूटर के डाटा को क्षतिग्रस्त करता है . यह कंप्यूटर डाटा मिटाने या उसे खराब करने का कार्य करता है . वायरस जानबूझकर बनाया गया एक program है . यह computer के booting सिस्टम से अपने आप को connect कर लेता है और उसके बाद computer जितनी बार boot करेगा उतनी बार virus computer में फिल्ट रहता है . Virus कंप्यूटर hard disk के boot sector में प्रवेश कर के hard disk के speed को कम कर देता है .  किसी भी program से लिंक हुआ virus तब तक active नहीं होता जब तक program को run न किया जाये . एक बार virus active होने के बाद ये अपने आप को computer मेमोरी से link कर लेता है उसके बाद ये फैलने लगता है .

How Computer Virus Spread

Computer me Virus kaise failta hai

कंप्यूटर में वायरस कई तरीके से फैलता है आइये जानते है इसके बारे में

Email

यदि आपके mail पर कोई virus से संक्रमित file आती है और आप उसे अपने computer में open करते है तो virus आपके computer में आ जाता हैं .

Internet

आज का समय डिजिटल समय है आज ज्यदा से ज्यादा लोग internet का use करते है और use करते है आप online को file download करते है और उस file में virus है तो ये virus आपके computer में फ़ैल जाता है .

Pen drive

यदि आप virus से संक्रमित कोई pen drive अपने computer में use करते है तो वो virus आपके computer में फ़ैल जाता है .

History of Computer Virus in Hindi

Computer Virus ka Itihas

शुरुआत में कंप्यूटर वायरस, कंप्यूटर प्रोग्रामरों द्वारा केवल हंसी मजाक के लिए बनाए जिनका मकसद अपनी प्रोग्रामिंग क्षमताओं को जाँचना और अपने को दूसरों से बेहतर दिखाना भर होता था। ये वायरस ज्यादातर एक मजाकिया संदेश, एनीमेशन या कोई चिन्ह दिखा कर बंद हो जाते थे .

BBN technologies के एक Engineer रॉबर्ट थॉमस ने वर्ष 1971 में पहला ज्ञात कंप्यूटर वायरस विकसित किया था . सबसे पहला Creeper नाम से develop किया गया था जो स्क्रीन पर एक संदेश “मैं क्रीपर हूँ, अगर मुझे पकड़ सकते हो तो पकड़ो” दिखता था .

सबसे पहला virus जिसे खोजा गया था पाकिस्तानी भाइयों बासित फारूक अल्वी और अमजद फारूक अलवी के द्वारा सन 1986 में बनाया गया पाक ब्रेन (pak brain) या ब्रेन वायरस था , जो उन्होंने अपने बनाये software की अनाधिकृत प्रतिलिपि करने से रोकने के लिए बनाया था . इस समय तक वायरस किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा रहे थे .

2 नवंबर, 1988 को, रॉबर्ट मॉरिस ने संयुक्त राज्य में एक बहोत ही महत्वपूर्ण network में inject किया , जिसकी वजह से काफी ज्यादा नुकसान हुआ था . उसके बाद लोगो को ये महसूस हुआ की virus कितना खतरनाक हो सकता है .

उसके बाद कई ऐसे virus बनाये गए जिससे बहोत ज्यादा नुकसान हुआ और वर्तमान में, आपके आसपास कई प्रकार के वायरस सक्रिय हैं . इसलिए अब आपको अधिक सावधान रहना चाहिए .

Types of Virus

Virus ke Prakar

कंप्यूटर वायरस कई प्रकार के होते है आइये जानते है कुछ बड़े वायरस के बारे में

Boot Sector Virus

इस प्रकार के virus , master Boot Record को infect करते है और यह चुनौतीपूर्ण है और इस virus को remove करना काफी मुश्किल होता है और ज्यादातर system को format करना पड़ता है .

Direct Action Virus

ये वायरस computer में install हो जाता है या कंप्यूटर memory में छिपा रहता है यह विशिष्ट प्रकार की फाइलों से जुड़ा रहता है जिन्हें यह infect करता है . ये virus , user के experience और system के performance पर प्रभाव नहीं डालता है .

Resident Virus

ये virus कंप्यूटर में install हो जाता है और इस virus को पहचानना और हटाना काफी मुश्किल होता है .

Multipartite Virus

यह एक ही समय में boot sector और एक्सि‍क्यूटेबल file को infect करता है तथा ये computer में कई तरह से फैलता है .

Spacefiller Virus

स्पेसफिलर virus को Cavity Viruses भी कहा जाता है . इसे इसलिए ऐसा कहा जाता है क्योंकि वे कोड के बीच की खाली जगहों को भर देते हैं और इस कारण फाइल को कोई नुकसान नहीं होता है .

इनके अतिरिक्त भी कई तरह के वायरस होते है .

कैसे पहचाने कंप्यूटर में वायरस है

जब कंप्यूटर में वायरस आ जाते है तो हमे कुछ संकेत मिलने लगते है जिससे हम ये समझ सकते है कंप्यूटर में वायरस आ गया है .

  1. जब कोई आप कंप्यूटर पर काम करते है और अचानक से अशलील Pop-Ups आ रहे है .
  2. अगर आपका कंप्यूटर अचानक से काम करते समय स्लो चल रहा है तो आपके कंप्यूटर में वायरस हो सकते है .
  3. जब कम्प्यूटर बार-बार जाम या अचानक हेंग होने लगा है, तो समझ जाएं कि यह इन्फेक्शन के कारण हो सकता है .
  4. आपके ब्राउजर का होमपेज अपने आप बदल गया है, तो बहुत संभव है कि आपके कम्प्यूटर में किसी स्पाईवेयर का हमला हो चुका है .
  5. एक ही फाइल अगर कई बार और कई जगह आपको अपने कंप्यूटर में दिख रही है तो आपका कंप्यूटर वायरस से संक्रमित है .
  6. आपके डेस्कटॉप या सिस्टम ट्रे में अजीब किस्म के आइकन आ गए हों, जबकि आपने ऐसा कोई सॉफ्टवेयर भी इंस्टॉल नहीं किया है। क्लिक करने पर वे तेजी से अश्लील वेबसाइट्स को खोलना शुरू कर देते हैं .
  7. अगर आपके कंप्यूटर की कोई फाइल Corrupt या Delete हो गयी हो .
  8. यदि आपके computer की hard disk अपने आप full हो गयी हो तो सम्भावना है आपके कंप्यूटर में वायरस आ गया है .

Virus से अपने कंप्यूटर को कैसे बचाये

आइये अब जानते है हम अपने कंप्यूटर को कैसे वायरस से बचा सकते है .

  1. अपने कंप्यूटर में हमेशा एक अच्छे Antivirus  का use करें .
  2. यदि आपके ईमेल पर कोई लिंक आती है जिसे आप नहीं जानते है तो ऐसे लिंक पर न क्लिक करे .
  3. यदि आप किसी भी तरह का online account use करते है तो उसका password हमेशा strong बनाये .
  4. अपने software को समय – समय पर अपडेट करते रहे .

Malware kya hai ( What is Malware )

ये भी एक software program है जो computer को चंलने में समस्या उत्पन्न करता है . Malware का पूरा नाम है – Malicious Software . ये एक बार कंप्यूटर में आने से use पूरी तरह से ख़राब कर सकता है . Malware भी एक प्रकार के virus का ही नाम है . जो सिस्टम के data को हानी पहुंचता है .

What is Trojan Horse in Hindi

ये बहोत ही खतरनाक वायरस है . ये वायरस कंप्यूटर में अपनी पहचान छुपाकर आता है जैसे – यदि आपने ऑनलाइन किसी site पर visit किया और उस site पर कोई add है जिसमे आपको कुछ ऑफ़र दिया जा रहा हो और आपने उस पर क्लिक कर दिया तो ये उसके जरिये आपके कंप्यूटर में आ जायेगा और आपको इसके बारे में पता भी नहीं चलेगा तथा धीरे -धीरे ये आपके सिस्टम को नष्ट कर देगा . ये वायरस internet पर बहोत सारे software के रूप में रहता है जिससे आपको ये लगता है की ये software है , लेकिन ये Trojan horse रहता है जो software में ही छिपा रहता है , और जब ये एक बार सिस्टम में आ जाता है तो इसकी वजह से कई और प्रकार के वायरस आपने लगते है .

What is Worms

Worms भी एक वायरस की तरह ही होते है . ये सिस्टम में अपने आपको ज्यादा से ज्यादा फ़ैलाने की कोशिश करते है . ये virus अपने आपका multiply करते रहते है . मतलब यदि ये वायरस आपके कंप्यूटर में आ गए तो ये आपके file की copy करके बढ़ाते रहते है . जिसकी वजह से सिस्टम काफी धीमा हो जाता है . यदि in फाइल को कही और शेयर कर दिया जाये तो उसमे भी ये वायरस फ़ैल जायेंगे .

Conclusion

दोस्तों आज हमने जाना कंप्यूटर वायरस के बारे में What is Virus in Hindi , Virus full form in computer क्या है , वायरस कितने प्रकार का होता है ,कंप्यूटर में वायरस कैसे फैलता है , कंप्यूटर के वायरस का इतिहास क्या है , कंप्यूटर में वायरस फिलाने के बाद क्या करता है , कंप्यूटर को वायरस से कैसे बचाये , वायरस से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हमने जाना .

उम्मीद करते है आपको What is Virus in Hindi , Virus full form in computer तथा कंप्यूटर virus से सम्बंधित सभी जानकारी पूरी तरह से समझ में आ गया होगा . यदि आपका इससे सम्बंधित कोई सवाल है तो आप comment box में comment कर सकते है , हम आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे .

दोस्तों आपको What is Virus in Hindi , Virus full form in computer और computer virus से जुड़ी हर जानकारी कैसी लगी और यदि आपका कोई सुझाव हो तो हमे comment करके जरुर बतायें और यदि आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Social Media पर शेयर जरुर करें .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *