TDS Full Form / What is TDS in Hindi / TDS kya hota hai

What is TDS in Hindi, TDS kya hata hai, TDS full form, TDS Online kaise jama kare – दोस्तों अज हम जानेंगे टीडीएस के बारे में ,TDS Kya Hai , टीडीएस का हिन्दी में पूरा नाम क्या है , टीडीएस ऑनलाइन कैसे जमा का सकते है , टीडीएस से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हम जानेंगे .

TDS Full Form

TDS Full Form

Tax Deducted At Source

TDS Full Form in Hindi

टीडीएस का हिन्दी में पूरा नाम

स्त्रोत पर कर कटौती

What is TDS in Hindi / TDS kya Hota Ha

आय स्त्रोतों पर कर कटौती या टीडीएस एक प्रकार का कर होता है जो किसी व्यक्ति से सामयिक और असामयिक आधार पर वसूला जाता है . यहां स्रोत ‘sources’ से मतलब है—कमाई का स्रोत . इनकम टैक्स एक्ट के तहत कमाई के स्रोत 5 तरह के माने गए हैं

  1. Income as salary / किसी संस्थान से वेतन के रूप में मिलने वाला पैसा .
  2. Income from business/profession / अपने कारोबार या व्यवसाय से प्राप्त पैसा .
  3. Income from house property / किसी संपत्ति से किराए के रूप में आमदनी .
  4. Income as capital gains / किसी संपत्ति को बेचने पर जो भी profit प्राप्त हुआ हो उस पर .
  5. Income From other sources / ब्याज, कमीशन, लाभांश वगैरह के रूप में हुए इनकम पर .

किसी व्यक्ति की जो Income होती है उस Income में से Tax काटकर अगर बची हुई Income दी जाये तो Tax के रूप में जो Income काटी जाती है उसे TDS कहा जाता है , और इसके लिए बाकायदा वित्तीय वर्ष के अंत में 16ए फॉर्म दिया जाता है .

TDS का उद्देश्य आय के स्रोत पर राजस्व संग्रह करना है . यह अनिवार्य रूप से कर कलेक्टेड करने का एक तरीका है .

Government TDS के द्वारा tax collect करती है , और उस पैसे को सामाजिक कार्य करने में खर्च करती है . TDS आयकर अधिनियम 1961 के द्वारा Income Tax जमा करने का एक तरीका है , जिसको government Advance जमा करती है . TDS भी Income Tax का ही एक रूप है .

आपको पता होना चाहिए जैसे-जैसे आप सैलरी बढ़ती जाएगी वैसे वैसे आपकी सैलरी पर कर की percentage बढ़ती जाएगी और वैसे ही प्रति माह आपका employer TDS को सरकार के खाते में जमा करवा देता है जैसे ही सैलरी को अर्जित किया जा रहा है .

TDS Kaise Kata Jata Hai

कोई भी संस्थान (जो टीडीएस के दायरे में आता है) जो भुगतान कर रहा है, वह एक निश्चित रकम टीडीएस के रूप में काटता है . जिससे टैक्स लिया गया है उसे भी टीडीएस कटने का सर्टिफिकेट जरूर लेना चाहिए। डिडक्टी अपने चुकाए गए टैक्स का टीडीएस क्लेम कर सकता है . हालांकि उसी फाइनैंशल इयर में क्लेम करना पड़ेगा .

एक निश्चित आय पर कटता है टीडीएस

आयकर विभाग ने सैलरी, ब्याज आदि पर टीडीएस काटने के कुछ नियम तय किये हैं जैसे कि एक साल में एफडी से अगर 10 हजार से कम ब्याज मिलता है तो आपको उसपर टीडीएस नहीं चुकाना पड़ेगा . अगर एक वित्तीय वर्ष में व्यक्ति की आय इनकम टैक्स छूट की सीमा से नीचे है तो वह अपने नियोक्ता से टीडीएस फार्म 15 G/15H भरके टीडीएस नहीं काटने के लिए कह सकता है .

TDS Online Kiase Jama Kare

TDS ऑनलाइन कैसे जमा कर सकते है आइये जानते है .

  • दोस्तों आप आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट incometaxindiaefiling.gov.in पर जा कर TDS को ऑनलाइन जमा कर सकते है
  • यहां लॉन-इन करें जहां TAN नंबर आपका यूजर Id और password डालें.
  • लॉग-इन करने के बाद ‘Upload TDS’पर जाएं.
  • सही विवरण भरें और मान्य पर Click करें.
  • इसके बाद, आप अपना TDS कथन और डिजिटल हस्ताक्षर upload करें.
  • दोस्तों जब आप अपने आवश्यक document upload कर देंगे तो आपके screen लेनदेन Id पर एक संदेश दिखाई देगा जो आपके registered ईमेल Id पर भी भेजा जाएगा.

TDS Ke Fayde

टीडीएस भरने से सरकार को और आपको क्या फायदा होता है आइये जानते है .

  • टीडीएस को सिर्फ जॉब वाले ही नाही भरते है उनके अतिरिक्त जिनकी income अच्छी होती है वो लोग भी tax भरते है .
  • यदि आप Tax भरते है तो सरकार उस पैसे को देश के विकास के लिये खर्च करती है जिससे अपने देश का विकास होता है .
  • इससे सरकार की नियमित आय होती है। जिससे की सरकार को अपने खर्च और व्यवस्था को व्यवस्थित करने में मदद मिलती है
  • टीडीएस डायरेक्ट income से काट लिया जाता है , जिससे Tax की चोरी की सम्भावना बहोत कम होती है .

टीडीएस कैसे बचाएं / How To Save TDS

यदि आप टीडीएस बचाना चाहते है तो उसके लिये आपको कुछ टैक्स छूट वाले निवेश के प्रमाण देने पड़ते है .

  • Salary के साथ आपको मिलने वाले कुछ भत्ते (Allowance) पूरी तरह और कुछ भत्ते आंशिक रूप से टैक्स से छूट प्राप्त होते हैं . जैसे कि मकान किराया भत्ता (HRA) एलटीए, मेडिकल अलाउंस वगैरह .

Conclusion

दोस्तों आज हमने जाना टीडीएस के बारे में TDS kya hota hai , What Is TDS In Hindi , TDS Full form क्या है , टीडीएस आप ऑनलाइन कैसे भर सकते है , टीडीएस भरने के फायदे क्या है , आप अपना टीडीएस कैसे बचा सकते है और टीडीएस सम्बन्धी जरुरी जानकारी को हमने जाना .

उम्मीद करते है आपको What Is TDS In Hindi , TDS Full form तथा टीडीएस से जुड़ी हर जानकारी पूरी तरह से समझ में आ गया होगा . यदि आपका इससे सम्बंधित कोई सवाल है तो आप comment box में comment कर सकते है , हम आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे .

दोस्तों आपको What Is TDS In Hindi , TDS Full form और टीडीएस से सम्बंधित सभी जानकारी कैसी लगी और यदि आपका कोई सुझाव हो तो हमे comment करके जरुर बतायें और यदि आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Social Media पर शेयर जरुर करें .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *