SSL Full Form In Computer / SSL kya hai

SSL Full Form In Computer, SSL kya hai, SSL Certificate kaha se le – दोस्तों आज हम जानेंगे SSL certificate के बारे में SSL क्या है , SSL का पूरा नाम क्या है , SSL कैसे काम करता है , SSL कितने प्रकार का होता है , SSL कहाँ से खरीदें , SSL से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को जानेंगे .

SSL Full Form In Computer

आज के समय में सबकुछ डिजिटल होता जा रहा है , ऐसे में आज ऑनलाइन transaction बहुत ज्यादा किया जाने लेगा है . जिसके लिये आपको अपनी details भी share करना पड़ता है . तो ऐसे में क्या वो website owner आपके data को secure रखते है या नहीं कही आपके data को बीच में कोई हैकर हैक तो नहीं कर ले रहा है , इसी समस्या से बचाने के लिये SSL का use किया जाता है .

SSL Full Form In Computer

SSL ka Full Form क्या है

SECURE SOCKETS LAYER

SSL Full Form In Hindi / SSLका पूरा नाम हिन्दी में

सिक्योर सॉकेट्स लेयर

SSL Kya hai / SSL क्या है

SSL ka full form – Secure Sockets Layer होता हैं . इस तकनीक का निर्माण सन 1990 में NETSCAP के द्वारा हुआ था . ये एक Encryption Protocol है जिसका प्रयोग बहोत सारी website के द्वारा किया जाता है . ये Protocol Website और Internet Browser के साथ एक Secure connection देता है .

SSL , internet use करने वाले के personal data को दूसरी वेबसाइट से communication करते समय security देता है . आज के समय में ज्यादातर ऑनलाइन व्यवसाय करने वाले सभी SSL का प्रयोग करते है ताकि वो Customers और उनके द्वारा किये जा रहे ऑनलाइन Transaction को Secure कर सके .

अभी ऑनलाइन कुछ भी अपना data share करने से पहले आप ये कैसे पता करेंगे की आपका data उस website पर सिक्योर है की नहीं , इसके लिये आपको उस website का यूआरएल देखना जो http से शुरू होते है वो बिलकुल भी सिक्योर नहीं है और जो url https से शुरू होते होते है वहाँ पर आपका data सिक्योर रहेगा ‘s’ से ये पता चलता है की उनके पास SSL certificate है और वो connection सुरछित है आपके द्वारा दिया गया data safe रहेगा .

SSL kaise kaam karta hai

SSL दो प्रकार के Key का प्रयोग करता है एक Public Key और दूसरी Private Key होती है , ये दोनों Key मिलकर एक safe connection बनाती है जिससे Data safety के आदान – प्रदान होता है .  Public Key को Information Encrypt करने के लिए और Private Key को Information Decrypt करने के लिये प्रयोग किया जाता है .

जब कोई user कुछ ब्राउज़र में टाइप करके सर्च करता है तो Web Browser Website के server से connect होता है और वह website के server से SSL Protocol का प्रोयोग करता है User उस website server से जानकारी पाने के लिये request करता है जो उसने सर्च किया है .

User के द्वारा Request करने के बाद Web server SSL Certificate की help Public Key Webserver को भेज देता है और हमे जानकारी प्राप्त हो जाती है . SSL Certificate को Check कर लेने के बाद यह निर्णय लेते है की उस website पर भरोषा कर सकते है या नहीं . उसके बाद user यह निर्णय लेता है की use पर भरोषा कर सकते है उसके बाद वो server को encrypt massage भेजता है .

उसके बाद web server उस Encryption Message को Decrypt करता है उसके बाद Browser को एक Acknowledgment Send करता है की User के साथ SSL Encryption शुरू किया जाये उसके बाद user का Private Data उस Browser और website के मध्य सुरछित आदान प्रदान होता है ,

SSL Kaise Kharide / SSL कहाँ से खरीदें

SSL की Service कई बड़ी Companies प्रदान करती है जैसे – Godaddy, BigRock, HostGator आदि जब हम अपनी website के लिये Hosting server खरीदते हैउस समय हमे वो hosting कम्पनीज हमें SSL Certificate की Service भे देती है . यहां से हम Hosting खरीदने के साथ-साथ अपनी वेबसाइट के लिए SSL Certificate भी खरीद सकते है जो हमारी वेबसाइट को Secure रखेग .

यदि ऊपर बताई गयी Companies से आप SSL Certificate खरीदते है तो उसके लिए आपको पैसा देना पड़ेगा , तभी आप SSL service वहां से use कर पाएंगे . कुछ ऐसी भी Companies है जो Free में SSL Certificate देती है उनमें से एक है Let’s Encrypt ये Internet Research Group का एक Project है जो आम लोगों को Free SSL Service Provide करती है.

SSL ke prakar / Type of SSL

SSL कई प्रकार के होते है कुछ सस्ते और कुछ महगे होते है आइये जानते है इनके बारे में

1. Wildcard SSL Certificate

इस SSL की मदत से आप अपने  डोमेन और सारे  sub डोमेन को सुरछित कर सकते हैं . और यहाँ पर आपको organization validation मिलता हैं  .

2. Multi-Domain (SAN) SSL Certificate

एक multi domain SSL की मदत से आप एक साथ 250 डोमेन को सुरक्षित रख सकतें हैं . यहाँ पर आपको Organization Validation ,  Domain Validation और Extended Validation दिया जाता है .

3. EV SSL Certificate

यह SSL business के लिये बनाया गया है जो web ब्राउज़र के address बार को को ग्रीन करने के साथ साथ  आपका business नाम भी दिखाता है . ये  एक highly recognized और encrypted SSL certificate होता है .

4. Domain validated SSL

ये एक medium स्तर का safety देता है ज्यादातर  ब्लॉगर और छोटे – मोटे website इसे  इस्तेमाल करते है .

5. Organization Validation SSL

इसका use ऑनलाइन business को verify और सुरछा देने के लिये किया जाता है . इसमें user को ये पता चलता है की वो एक secure और verified वेबसाइट को visit कर रहे है .

6. Code Signing Certificate

इस SSL certificate के द्वारा software के code को सुरछित किया जाता है और ये files तथा एप्लीकेशन को भी सुरछा देता है .

7. Multi Domain Wildcard SSL Certificate

यदि आप एक साथ कई domain और sub domain को secure करना चाहते है तो आप Multi Domain Wildcard SSL Certificate का use कर सकतें है .

Conclusion

दोस्तों आज हमने जाना SSL certificate के बारे SSL kya hai , SSL Full form In Computer क्या है , SSL का पूरा नाम क्या है , SSL कैसे काम करता है , SSL कितने प्रकार का होता है , SSL कहाँ से खरीदें , SSL से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हमने जाना .

उम्मीद करते है आपको SSL kya hai , SSL Full form In Computer ये सब पूरी जानकारी पूरी तरह से समझ में आ गया होगा . यदि आपका इससे सम्बंधित कोई सवाल है तो आप comment box में comment कर सकते है , हम आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे .

यह भी जानें…

दोस्तों आपको SSL kya hai , SSL Full form In Computer और SSL से सम्बंधित से सभी जानकारी कैसी लगी और यदि आपका कोई सुझाव हो तो हमे comment करके जरुर बतायें और यदि आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Social Media पर शेयर जरुर करें .

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *