SDM Full Form in Hindi / SDM Kaise Bane / Exam

SDM Kaise Bane, SDM Full Form In Hindi, SDM Kya Hota Hai – दोस्तों आज हम आज हम जानेंगे SDM के पद के बारे में एसडीएम कैसे बने , एसडीएम बनने के लिये क्या योग्यता होनी चाहिये , एसडीएम के क्या कार्य होते है , एसडीएम की salary कितनी होती है , एसडीएम के पद से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हम जानेंगे .

आज का समय प्रतिस्पर्धा का युग है व अब के समय में सरकारी नौकरी पाना इतना आसान काम नहीं है , लेकिन नामुमकिन भी नहीं है . इसके लिये छात्र को पूर्व से अपने लक्ष्य को निर्धारित कर अपने लक्ष्य के प्रति परिश्रम करना चाहिये .

SDM Full Form In Hindi

एसडीएम का हिन्दी में पूरा नाम

उप प्रभागीय न्यायाधीश

SDM Ka Full Form

SDM Full Form In Police

Sub Divisional Magistrate

SDM Kya Hota Hai

SDM एक जिले का प्रशासनिक अधिकारी होते है ,  भारत में एक उप मंडल मजिस्ट्रेट के पास आपराधिक प्रकिया संहिता 1973 के तहत कार्यजरी और मजिस्ट्रेट भूमिकाएं होती हैं . देश की सरकारी संरचना के आधार पर प्रत्येक जिला तहसील में बांटा गया होता है . यह टैक्स इंस्पेक्टर, कलेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा सशक्त होते है जिसे एसडीएम कहा जाता है . SDM अनेक प्रकार की जिम्मेदारियों को निभाते है .

SDM Kaise Bane

अभ्यर्थियों को SDM बननें हेतु दो विकल्प उपलब्ध है . पहला विकल्प राज्य स्तर सिविल सेवा परीक्षा (Civil Service Examination)और दूसरा विकल्प राज्य लोक सेवा आयोग (State Public Service Commission) के माध्यम से इस पद पर नियुक्ति प्राप्त कर सकते है .

Qualification For SDM / शैक्षणिक योग्यता

SDM के पद पर आवेदन करने के लिये अभ्यर्थी को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम से स्नातक उत्तीर्ण होना आवश्यक है, स्नातक के अंतिम वर्ष के छात्र भी इस पद के लिए आवेदन कर सकते है .

Age Limit For SDM / आयु सीमा

  • General वर्ग  के अभ्यर्थियों के लिये न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 40 वर्ष निर्धारित किया गया है .
  • OBC वर्ग  के अभ्यर्थियों के लिये न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 45 वर्ष निर्धारित किया गया है .
  • SC/ST वर्ग  के अभ्यर्थियों के लिये न्यूनतम 21 वर्ष और 45 वर्ष निर्धारित किया गया है .
  • PWD  के अभ्यर्थियों के लिये न्यूनतम 21 वर्ष और 55 वर्ष निर्धारित की गई है .

Selection Process For SDM / चयन प्रक्रिया

SDM के लिए उम्मीदवारों का चयन कुछ इस आधार पर किया जाता है-

  1. प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary examination)
  2. मुख्य परीक्षा (Main examination)
  3. इंटरव्यू (Interview)

Exam Pattern For SDM / परीक्षा पैटर्न

1 . प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary examination)

यदि आप SDM बनना चाहते है तो यह आपके लिए यह पहला चरण होता है . इस परीक्षा में सामान्य ज्ञान से सम्बंधित 2 प्रश्न पेपर होते है . इस परीक्षा के लिए 200 अंक निर्धारित होते है . प्रारंभिक परीक्षा में सामान्य ज्ञान से सम्बंधित द्वितीय प्रश्नपत्र क्वालीफाईग अंको का होता है . इस परीक्षा को पास करने के लिए 33% नबर लाना अनिवार्य व साथ ही इस परीक्षा के नंबर आपकी मेरीट में नही जोड़े जाते है . सिर्फ प्रथम प्रश्न पत्र के अंक जोड़े जाते है .

प्रारंभिक परीक्षा में अंको का निर्धारण

प्रश्न पत्रअंक
सामान्य ज्ञान-1200
सामान्य ज्ञान- 2200
2 . मुख्य परीक्षा (Main examination)

जो अभ्यार्थी प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेते है उन्हें मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने का अवसर मिलता है . मुख्य परीक्षा में कुल आठ प्रश्न पत्र होते है, जिसमें करंट अफेयर्स, इतिहास, भूगोल, भारतीय राजनीती ,जनरल साइंस, और सामान्य ज्ञान से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है .

मुख्य परीक्षा में अंको का निर्धारण 

प्रश्नपत्र  अंक
हिंदी150 अंक
निबंध150 अंक
सामान्य अध्ययन 1200 अंक
सामान्य अध्ययन 2200 अंक
सामान्य अध्ययन 3200 अंक
सामान्य अध्ययन 4200 अंक
वैकल्पिक विषय पेपर 1200 अंक
वैकल्पिक विषय पेपर 2200 अंक
3 . इंटरव्यू (Interview)

साक्षात्कार में आवेदक की योग्यता का आकलन किया जाता है, साक्षात्कार के दौरान आपका इंटरव्यू लेने वाले पैनल को यह विश्वास दिलाना होगा, कि आप इस पोस्ट के लिए एकदम योग्य है और आप ये जिम्मेदारी अच्छी तरह से निभा सकते है . यह 200 अंकों का होता है .

SDM के कार्य

यह पोस्ट एक बड़ी पोस्ट (Post) होती है, इस कारण इस पद पर नियुक्त अधिकारी के पास बहुत सारे अधिकार होते है .

  • SDM ही दंड प्रकिया संहिता की धारा निवारक का संचालन करते है। SDM के पास यह अधिकार होता है कि यदि शादी के 7 साल के अन्दर महिला की मौत हो जाती है तो वह इस मुद्दे पर खुलकर पूछताछ कर सकता है .
  • जब शादी हो जाती है तो उसके बाद शादी का पंजीकरण करना SDM का काम होता है .
  • अपनें जिले की भूमि का लेखा-जोखा एसडीएम के देखरेख में होता है .
  • राज्य में चल रहे सभी भूमि अभिलेखों के सभी ब्यौरों की देख रेख करना। SDM का ही काम होता है और साथ ही भूमी का सीमांकन और म्यूटेशन आदि भी SDM की ही देखरेख में होता है .
  • SDM सभी कार्यों में से निर्वाचन का सबसे महत्वपूर्ण काम होता है। SDM ही राज्य के लोकसभा और विधानसभा के सदस्यों का चुनाव करवाता है और मतदाताओं की मतदाता सूची को जारी करना भी SDM का काम ही होता है .
  • प्रमाण-पत्र जारी करना भी SDM की जिम्मेदारी होती है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और बाकी के सभी पिछड़े वर्ग साथ स्थानीय राष्ट्रीयता (Nationality) आदि के साथ ही वैधानिक प्रमाण-पत्र के अलग-अलग प्रकार को जारी करना साथ ही सम्पति के दस्तावेजों का पंजीकरण भी SDM के द्वारा ही किया जाता है .

SDM Ki Salary

एक SDM अधिकारी का मासिक वेतमान ग्रेड पे के अनुसार न्यूनतम वेतन 56,000 से 67,000 तक हो सकता है और अधिकतम वेतन 1 लाख तक भी हो सकता है .

Conclusion

दोस्तों आज हमने जाना SDM के पद के बारे में SDM Kaise Bane , SDM Full Form In Hindi क्या है , एसडीएम बनने के लिये क्या योग्यता होनी चाहिये , एसडीएम के क्या कार्य होते है , एसडीएम की salary कितनी होती है , एसडीएम के पद से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हमने जाना .

उम्मीद करते है आपको SDM Kaise Bane , SDM Full Form In Hindi तथा एसडीएम के पद से जुड़ी हर जानकारी पूरी तरह से समझ में आ गया होगा . यदि आपका इससे सम्बंधित कोई सवाल है तो आप comment box में comment कर सकते है , हम आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे .

यह भी जानें…

  1. IAS कैसे बने , IAS full form क्या होता है , आईएस बनने की तैयारी कैसे करे .

दोस्तों आपको SDM Kaise Bane , SDM Full Form In Hindi और एसडीएम के पोस्ट से सम्बंधित सभी जानकारी कैसी लगी और यदि आपका कोई सुझाव हो तो हमे comment करके जरुर बतायें और यदि आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Social Media पर शेयर जरुर करें .

Related posts

B Pharma Kya Hai / B Pharma Full form

Narendra

LCD Full Form In Computer / LCD kya hai

Narendra

USB Full Form In Computer / USB kya hai

Narendra

Leave a Comment