IP Full Form in Hindi / What is IP Address In Hindi

IP Address kya hai, IP full form in Hindi, What is IP Address in Hindi – दोस्तों आज हम जानेंगे IP Address के बारे में IP Address क्या है , IP Address कितने प्रकार का होता है , IP Address कैसे काम करता है , IP Address से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हम जानेंगे .

IP Full Form in Hindi

IP Full Form In Hindi

आईपी का पूरा नाम हिन्दी में

इन्टरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस

IP Ka Full Form

IP Full Form In English

Internet Protocol Address

What is IP Address In Hindi ( IP Address Kya Hai )

IP Address का पूरा नाम “इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस” यह गणितीय अंकों के रूप में होता है , तथा Smart Phone हो या Computer सभी उपकरण के लिए एक अलग IP Address होता है .

IP Address आपके device का नाम होता है और IP Address के माध्यम से ही उसे इंटरनेट की दुनिया में पहचाना जाता है .

जब हम अपने Computer या Mobile के द्वारा Internet पर कुछ Search करते है तो IP Address केमाध्यम से ही Router को मालूम पड़ता है की उसे data कौन -सी जगह पर भेजना है , Router हमारे द्वारा Search किये गये data को हमारे IP Address पर भेजने का काम करता है .

IP Address 32 Bit के Binary Digit से के द्वारा बनता है , जिसको याद करना आसान नहीं होता है . इसीलिए इसको दशमलव का use करके 4 भाग में divide कर दिया जाता है . IP Address के प्रत्येक भाग में 0 से लेकर 255 अंकों तक की संख्याये हो सकती है .

किसी भी कंप्यूटर के लिए दो IP Address हो सकते हैं, पहला इंटरनेट कनेक्शन के लिए तथा अन्य लोकल एरिया नेटवर्क के रूप में मौजूद हो सकता है .

Internet Protocol in Hindi

Internet Protocol (IP) यह एक protocol है , जिसके माध्यम से data internet पर एक उकरण से दूसरे दुसरे उपकरण पर send किया भेजा जाता है . आपके device के यूनिक एड्रेस के बिना , आप network या इंटरनेट पर अन्‍य devices , user और Computer के साथ संचार नहीं कर सकते है .

Types Of IP Address ( IP कितने प्रकार का होता है )

IP Address मुख्य रूप से दो प्रकार के होते है

  • Static IP Address
  • Dynamic IP Address

Static IP Address

Static name से आपको पता चल रहा होगा की ये आईपी एड्रेस बदलते नहीं है . यह IP Address परमानेंट इंटरनेट Address होता है . Static IP Address , secure माना जाता है क्यूंकि इससे track करना आसान होता है .

Dynamic IP Address

यह IP Address समय – समय पर बदलता रहता है . यह IP Address टेम्पररी इंटरनेट Address होता है . यह IP Address हर बार आपके Computer को दिया जाता है जब वो Internet से connect होता है .

IP Address Version

IP Address के अभी तक सिर्फ दो ही Version आये है

  1. IPv4 (Internet Protocol Address Version 4)
  2. IPv6 (Internet Protocol Address Version 6)
IPV4

IPV4 Address को 9183 में develop किया गया जो 32 bit का होता है . इस ip address को दशमलव के द्वारा 4 भागों में बाटा जाता है . इसके सभी range 0 से लेकर 256 तक होता है . जिसके सभी भाग में 8 bit का use किया जाता है .

Example- 182.168.1.1 ,       10.0.0.1 ,      172.154.0.1

IPV6

IPV4 में सिर्फ 32 bit का use होता है तथा IPV6 में बढ़ाकर128 bit का use किया जाने लगा है . जिसमे सिर्फ number का ही नहीं बल्कि alphabet और symbol का भी use किया जाता है . IPv6 के भागो को सेमीकोलन से बाटा जाता है . IPV6 को एक बड़े स्तर पर launch या गया है . जिसमे कुछ खास features को जोड़ा गया .

Example FEDC:BA98:7454:3210:FEDC:BA98:7454:3211

IP Address Ka Itihas ( History of IP Address )

IP Address को 1983 में Arpanet के द्वारा develop किया गया था . आज के समय में IPv4 और IPv6 का use किया जाता है .

IPv4 Address 32 bit का होता है . जिसमें 4,297,967,296 address space , limited होता है . IPv4 में कुछ address काम के लिये reserved करके रखा गया है जैसे – Private Network (18 मिलियन और एक 1M= 10, 00,000) और Multicast Addressing (270 मिलियन address reserved है

जब internet protocol की शुरुवात की गयी थी उस समय network की अधिकतम 8 होती थी . इसके हिसाब से सिर्फ 256 network का permission होता था . इस समस्या को दूर करने के लिये 1981 में ipv4 को विकसित किया गया जिसका use आज भी किया जाता है .

जब internet user बढ़ने लगे तब एक बार दुबारा समस्या उत्पन्न होने लगी तब 1995 में IP Address में 132 use करके नया design किया गया जिसे ipv6 के नाम से जाना जाता है . 2000 तक ipv6 को कई टेस्टिंग प्रक्रिया से गुजरा .

ipv5 को 1979 में design किया गया था , जिसे कभी launch नहीं किया गया . जो Experiment Internet Protocol Stream पर आधारित था .

IP Address Classes In Hindi

IPv4 Address मे IP रेंज के लिए 5 Classes हैं .

  • Class A
  • Class B
  • Class C
  • Class D
  • Class E

Class A  

इस IP Address का रेंज -1.0.0 1 से लेकर 120.134.254.255 होती है .यह एक बहोत है बड़ा network है जो अनेक प्रकार के उपकरण से जुड़ा हुआ होता है .

Class B

इस IP Address का रेंज – 128.1.0.1 से लेकर 191.255.255.254 तक होती है आयर ये ip address medium size के network के support के लिये होता है .

Class C

इस IP Address का रेंज – 193.0.1.1 से लेकर 223.255.254.254 तक होती है , ये ip address बहोत ही छोटे network के लिये होता है .

Class D

इस IP Address का रेंज – 229.0.0.0 से लेकर 239.255.255.255 के तक होती है और ये ip address , Multicast group के लिये reserved होता है .

Class E

इस IP Address का रेंज – 240.0.0.1 से लेकर 254.255.255.254 तक होती है , ये ip address future में use की जाने वाली technology है जिस पर Research तथा Development काम चल रहा है .

Conclusion

दोस्तों आज हमने जाना IP Address के बारे में What is IP Address in Hindi , IP Address Full Form In Hindi क्या है , IP Address के बारे में IP Address क्या है , IP Address कितने प्रकार का होता है , IP Address कैसे काम करता है , IP Address से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हमने जाना .

उम्मीद करते है आपको What is IP Address in Hindi , IP Address Full Form In Hindi तथा IP address से जुड़ी हर जानकारी पूरी तरह से समझ में आ गया होगा . यदि आपका इससे सम्बंधित कोई सवाल है तो आप comment box में comment कर सकते है , हम आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे .

यह भी जानें…

दोस्तों आपको What is IP Address in Hindi , IP Address Full Form In Hindi और IP address से सम्बंधित सभी जानकारी कैसी लगी और यदि आपका कोई सुझाव हो तो हमे comment करके जरुर बतायें और यदि आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Social Media पर शेयर जरुर करें .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *