Computer Full Form In Hindi / Computer Kya Hai

Computer Kya hai, Computer full form In Hindi, Computer kitne Prkar ka hota hai – दोस्तों आज हम जानेंगे कंप्यूटर के बारे में कंप्यूटर क्या है , कंप्यूटर का पूरा नाम क्या है , कंप्यूटर का इतिहास क्या है , कंप्यूटर का आविष्कारक कौन है , कम्पुटर कितने प्रकार का होता है ,कंप्यूटर से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हम जानेंगे .

Computer full form In Hindi

Computer Full form in Hindi

दोस्तों कंप्यूटर का कोई standard फुल फॉर्म नहीं होता है . इसका काफी लोकप्रिय फुल फॉर्म है

कंप्यूटर का हिन्दी में पूरा नाम

संगणक

Computer Full Form In English

Computer ka full form

C – Common
O – Operating
M – Machine
P – Particularly
U – Used in
T – Technology
E – Education and
R – Research

COMPUTER – Common Operating Machine Particularly Used in Technology Education and Research .

Computer Kya Hai ( What is Computer )

Computer शब्द अंग्रेजी के “Compute” शब्द से बना है, जिसका अर्थ है “गणना”, करना होता है . इसीलिए इसे गणक या संगणक या अभिकलक यंत्र भी कहा जाता है और इसका अविष्‍कार Calculation करने के लिये हुआ था सीधी भाषा मेंं कंप्‍यूटर Calculation करने वाली मशीन थी . Computer सैंकडो‌ गतिविधिया अकेला कर सकता है .

पहले Computer का use सिर्फ Calculation करने के लिये किया जाता था किन्‍तु आजकल इसका use डाक्‍यूमेन्‍ट बनाने, E-mail, listening and viewing audio and video, play games, database preparation के साथ-साथ और कई कामों में किया जा रहा है .

Computer एक ऐसा Electronic Device है जो User द्वारा Input किये गए Data में प्रक्रिया करके सूचनाओ को Result के रूप में स्क्रीन पर दिखता है ,  इसमें data को store करके दुबारा उसे एक्सेस किया जा सकता है .

Computer मूलतः दो भागों में बॅटा होता है

  • सॉफ्टवेयर
  • हार्डवेयर

Software

Software निर्देशों का एक set होता है जो Hardware को बताता है कि क्या करना है और इसे कैसे करना है . Software के उदाहरणों में Web Browser , Games , वर्ड प्रोसेसर आदि हैं . आपके द्वारा कंप्यूटर में किया गया कोई भी कार्य Software और hardware दोनों के द्वारा किया जाता हैं .

Hardware

Hardware आपके कंप्यूटर का कोई भी हिस्सा होता है जिसमें भौतिक संरचना शामिल है, जैसे Keyboard , Mouse , इसमें कंप्यूटर के सभी आंतरिक भाग भी शामिल हैं .

Computer ka Itihas ( History of Computer )

Computer का generation 5 भागो मर बटा हुआ है .

Vacuum Tubes First Generation (1940 – 1956 )

इस कंप्यूटर में मेमोरी के लिये Magnetic Drum या Circuitry का use किया जाता था . ये साइज़ में काफू बड़ा हुआ करता था , जिसको चलाने के लिये काफी ज्यादा energy की जरुरत पड़ती थी . ये काफी ज्यादा heat भी होता था .

Transistors Second Generation ( 1956- 1963 )

इस कंप्यूटर में मेमोरी के लिये Vacuum Tube की जगह transistor का use किया जाने लगा था . ये साइज़ में छोटे होते थे और फ़ास्ट भी थे . ये पहले के कंप्यूटर से कम heat होता था , लेकिन पूरी तरह से हीटिंग की समस्या समाप्त नहीं हुयी थी .

Integrated Circuit Third generation (1964 – 1971 )

पहली बार इस generation में Integrated Circuit का use हुआ था . जिसमे transistor को छोटा – छोटा कर एक चिप के अन्दर डाला गया था . जिसको semi conductor कहा जाता है . इससे कंप्यूटर के प्रोसेसिंग की speed काफी बढ़ गयी . पहली बार इस कंप्यूटर में Monitor , keyboard , Operating system का use किया गया था .

Microprocessor Fourth Generation ( 1971 to Present )

इस generation के कंप्यूटर में पहली बार माइक्रोप्रोसेसर का use किया गया जिसमे हजारो इंटीग्रेटेड सर्किट को एक सिलिकोन चिप में डाला गया . माइक्रोप्रोसेसर का use करने से कंप्यूटर की क्षमता पहले से काफी ज्यादा बढ़ गयी .

Artificial Intelligence Fifth Generation ( Present )

ये आज के दौर का है जिसमे आर्टिफीसियल ने अपना दब दबा कायम कर लिया है . इसमें कंप्यूटर की स्वयं निर्णय लेने की क्षमता आ चुकी है . जिससे आने वाले समय में काफी काम ऑटोमेटेड हो जायेंगे .

Computer ka Aavishkar kisne kiya

आधुनिक कंप्यूटर के जनक Charls Babage को कहा जाता है . क्योकि इन्होने ही 1837 में Analytical Engine निकाले थे .

Computer kaise Kaam Karta Hai

Input Data – Input उपकरण द्वारा Raw information को कंप्यूटर में enter किया जाता है .

Process – Input हुये data को instruction के अनुसार Processing किया जाता है .

Output – Output में जो data process हो चूका होता है उसे रिजल्ट के तौर पर स्क्रीन पर दिखाया जाता है .

Computer Parts

कंप्यूटर के कुछ मुख्य उपकरण होते है जिनसे मिलाकर एक complete कंप्यूटर बनता है .

System Unit

System Unit एक तरह का box होता है जिसमें Computer को से सम्बंधित कई छोटे – छोटे उपकरण होते है . system unit को ‘C.P.U. भी कहा जाता है . इसमें mother board, processor आदि उपकरण होते है जो Computer को कार्य करने लायक बनाते है .

Monitor

Monitor एक Output device है जो हमें दिए गए निर्देशों के result को दिखाता है. वर्तमान में Monitor की जगह LCD एवं LED ने ले ली है.

Keyboard

Keyboard एक Input Device है जिसका use हम Computer को instruction सेने के लिये करते है . इसके द्वारा Computer को वांछित आंकडे एवं निर्देश दिए जाते है .

Mouse

Mouse भी एक Input Device है . जिसके द्वारा कंप्यूटर को instruction दिया जाता है . हम इसके द्वारा Computer में उपलब्ध प्रोग्राम को चुनते है .

Speakers

Speakers एक Output device है , जो हमें Computer से आवाज को सुनने में मदद करते है. इन्ही के द्वारा हमें गानों, फिल्मों, प्रोग्रामों तथा खेलों आदि में उपलब्ध ध्वनी सुनाई देती है .

Printer

Printer भी एक Output Device है जो Computer द्वारा विश्लेषित सूचनाओं को कागज पर print करने के लिए होता है . कागज पर print होने वाली इनफार्मेशन को Hard copy कहते है .

Computer kitne Prakar Ka hota Hai

ज्यादातर लोग सोचते है कि कंप्यूटर डेस्कटॉप या लैपटॉप ही होते है . लेकिन कंप्यूटर कई आकारों में आते हैं , और वे हमारे दैनिक जीवन में कई अलग-अलग कार्य करते हैं . जब आप ATM से नकदी वापस लेते हैं , स्टोर में किराने का सामान Scan करते हैं , या Calculator का Use करते हैं, तो इसका मतलब हैं की आप एक प्रकार का कंप्यूटर Use करते है .

Desktop computers

Desktop Computer का use घर में , ऑफिस और स्कूल में ऐसे कई जगह पर होता है . Desktop Computer को डेस्क पर रखा जाने के लिए Design किया गया है , कंप्यूटर केस, Monitor , Keyboard और Mouse सहित कुछ अलग-अलग हिस्सों से बने होते हैं .

Laptop computers

Laptop Computer बैटरी संचालित कंप्यूटर हैं जो डेस्कटॉप से ​​अधिक पोर्टेबल हैं , जिससे आप इसे कही पर भी use कर सकते है .

Tablet computers

Tablet computer – हैंडहेल्ड कंप्यूटर हैं जो Laptop से ​​भी अधिक Portable है . टेबलेट में direct स्क्रीन टच से काम होता है . इसमें keyboard और mouse का use नहीं किया जाता है .

Servers

एक Server एक कंप्यूटर है जो Network पर अन्य कंप्यूटरों को जानकारी प्रदान करता है .

Advantages of Computer in Hindi / कंप्यूटर से फायदे

कंप्यूटर के बहुत सारे benefits हैं और उनमे से कुछ महत्वपूर्ण हैं –

• कंप्यूटर humans के मुकाबले बहुत ही तेज़ी से calculations कुछ ही seconds में करता है.
• आप अगर कहीं भी हों, कंप्यूटर के ज़रिए अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को e -mail, वीडियो कॉल कर सकते हैं.
• कंप्यूटर में internet के ज़रिए आप किसी भी चीज़ की टिकट बुक करवा सकते हैं, जैसे की – ट्रैन, एयरोप्लेन, बस, फिल्म, आदि.
• कंप्यूटर के ज़रिए आप दूर बैठे रिश्तेदार को money transfer कर सकते हैं.
• सबसे बड़ा लाभ – घर बैठे किसी भी चीज़ की जानकारी (information at home) पा सकते हैं.

Disadvantages of computer in Hindi / कंप्यूटर से नुक्सान

  • Sickness: वैसे तो कंप्यूटर लोगों को बहुत ही स्मार्ट बना रहा हैं लेकिन इसका अधिक प्रयोग बीमार (sick/weak) भी बना रहा हैं.
  • Unemployment : कंप्यूटर की वजह से बेरोजारी ज़्यादा हो रही हैं क्यूंकि कंपनियां और फैक्टरियां रोबोट का प्रयोग कर रही हैं.
  • Home Stay: कंप्यूटर की वजह से लोग अपने घरों में ही रहते हैं और इसी पर ही पूरी तरह से निर्भर हो गए हैं जिसके कारण उनका अपने मित्रों और रिश्तेदारों के साथ मिलना जुलना कम हो गया है.
  • Unsafe for Children: कंप्यूटर पर बच्चे गलत चीज़ें भी देखने लगे हैं जिसका उनपर बहुत ही गलत असर पड़ता है.
  • Fraud & cyber crime : इंटरनेट बैंकिंग का प्रयोग बहुत ही ध्यान से करना चाहिए क्यों की इससे आपका डाटा चोरी होने का खतरा है.

Conclusion

दोस्तों आज हमने जाना कंप्यूटर के बारे में Computer kya hai , Computer full Form In Hindi क्या है , कंप्यूटर का इतिहास क्या है , कंप्यूटर का आविष्कारक कौन है , कम्पुटर कितने प्रकार का होता है ,कंप्यूटर से सम्बंधित और भी जरुरी जानकारी को हमने जाना .

उम्मीद करते है आपको Computer kya hai , Computer full Form In Hindi तथा कंप्यूटर से सम्बंधित सभी जानकारी पूरी तरह से समझ में आ गया होगा . यदि आपका इससे सम्बंधित कोई सवाल है तो आप comment box में comment कर सकते है , हम आपके सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे .

यह भी जानें…

दोस्तों आपको Computer kya hai , Computer full Form In Hindi और Computer से जुड़ी सभी जानकारी कैसी लगी और यदि आपका कोई सुझाव हो तो हमे comment करके जरुर बतायें और यदि आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Social Media पर शेयर जरुर करें .

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *